रविवार, मार्च 25, 2018

गर्मी आने की आहट

समय के गाल पर मारकर चांटा
इधर उधर भाग रहा है
मौसम
चबूतरे पर
पसरा पड़ा है
बेसुध सन्नाटा

कुत्ते भी
उदास होकर
हांफने लगे है
कुआं , तलाब और छांव की
की तलाश कर

छतों पर खोज रहीं है
चिड़ियां
दाना पानी

पिछले बरस ही
फेंक दिया गया था
फूटा मटका

घर घर
ढूंढा जा रहा है पानी ---

"ज्योति खरे"

एक टिप्पणी भेजें