शनिवार, जुलाई 14, 2012

गाँधी के इस देश में....


 गाँधी के इस देश में--------
सुबह-सुबह पढते ही समाचार
शर्म से झुक जाते हैं सिर
अंधे,गूंगे,बहरे चौराहों पर
भीड़ दहशत में मौन है--------
गाँधी के इस देश में-----------
कब,किसका,कौन है---------?
                            "ज्योति"           
एक टिप्पणी भेजें